YEDECHALI LYRICS – MRUNAL SHANKAR – Lyricsmintss » LyricsMINTSS

join now

येडेचली (मृणाल शंकर के बोल) दीप कलसी द्वारा दिए गए संगीत के साथ नवीनतम पंजाबी गीत है। येदेचली गाने के बोल मृणाल शंकर ने लिखे हैं।

येडेचली गीत

चलती दुनिया में येदचली
है आती पर न देती गली मैं
सोचा कार्ति थी कुछ उखदुं
हुह उससे कुछ ज्यादा ही मैं

हां!
रैप के लिए नई कोई धोखा कोड
अब शुरू है रैप-चिक मोड
रात के खाने के लिए तैयार
मैं टोस्ट के लिए तैयार हूँ
हाँ रोस्ट ही ना करे

भला वो भी क्या दोस्त है

कलमकारी जिगर जिगर बाजीगरी
जेब खाली कर छोटा घर
ना तोड़ा कर तू रिश्तों को
वो बोला करते द मुझको

तू पागल है
हां हूं हक से
जो हूं खुद से
कर दूं कह दे तो तेरा बिल भर दूं
जब आने जाने फीलिंग्स से
तब हाय मास अपीलिंग है
नहीं देखी कभी भी मैंने

फिर भी वो तोड़ी कांच की छत

अब मैं समुद्र लिंक की कसम खा रहा हूँ हाँ
मैं सभी मुफ़्त भोजन परोस रहा हूँ हाँ
शुरू हो चुकी है अजीबो-गरीब पारी
मैं पहले से ही जीत रहा हूँ

इसके लिए नहीं लिखती संदर्भ
मेरी प्राथमिकताएँ हैं और मैं एक सूची बनाता हूँ
कभी कहीं नहीं लगता सही सही
गलत जो क्यूं करुं वोही

अब भी आंखों में आए पानी
जब भी याद आती है वो कहानी है
बेबस हुआ करती थी लड़की एक
अब वो शेरनी करके जानी मणि है

चलती दुनिया में येदचली
है आती पर न देती गली मैं
हम्म सोचा कार्ति थी कुछ उखडुं
हम्म उससे कुछ ज्यादा ही मैं

चलती दुनिया में येदचली
है आती पर न देती गली मैं
हम्म सोचा कार्ति थी कुछ उखडुं
हम्म उससे कुछ ज्यादा ही मैं

हाँ ताल आर्केड बड़ी घनी आँखें मेरी
इसलिए बंधी मैंने बाड़ और बचाया तुझे
बडी मैं तुम्हारा तारणहार हूँ
फिर भी तुम गिरना चाहते हो मेरी गलती नहीं
मैं तुम्हें दोष देता हूँ
चटनी लायी सांस मैं
सीन में थोड़ी मीठा
नमकीन भी स्वदनुसार
मुमकिन करुण मैं हर ड्रीम मेरा

हर दिन हूं कीन मैं
शौकिन मैं
खाती जुबान हर चीज ये
पर रहना छती दुबला मैं
तेज बालों का तनाव
मैंने कुछ पुरुषों को बुरी नीयत से देखा है
बने चले विक्रम मेरे
उनकी बेताल हूं मैं

हर दम रहूं मैं सुर ताल में
इतने बेताल वो हैं
फिर भी बवाल क्यों नाम से मेरे
ये सवाल क्यों है

आटा ख्याल अक्सर है के
सारे दलाल क्यूं हैं
सब बेचेने हैं बीफ
सब कोतवाल क्यों हैं

कमल के मूल की है कलाम से
कर दूं कलाम मैं सर धड़ अलग
जो भी गलत जिसमे कपाट
हां वो मृणाल हूं मैं

क्या ही बनेगा मेरी मिसाल
जो बेमिसाल हूं मैं
हां हां मृणाल हूं मैं
हां हां मृणाल हूं मैं
कमाल हूं मैं

चलती दुनिया में येदचली
है आती पर न देती गली मैं
हम्म सोचा कार्ति थी कुछ उखडुं
हम्म उससे कुछ ज्यादा ही मैं

चलती दुनिया में येदचली
है आती पर न देती गली मैं
हम्म सोचा कार्ति थी कुछ उखडुं
हम्म उससे कुछ ज्यादा ही मैं

यदि आपको येदेचली गीत के बोल में कोई गलती मिलती है, तो कृपया हमसे संपर्क करें फ़ॉर्म का उपयोग करके सही गीत भेजें।

Stay Tuned with lyricsmintss.com for more Entertainment news.

Leave a Comment