SAAT SAMUNDAR PAAR LYRICS – Dev Negi, Nikhita Gandhi, Enbee – Lyricsmintss » LyricsMINTSS

join now

नाम को बस तेरे हां शाम सवेरे

लबोन ने पुकार

लौट के न जाना अगर तुम आना

जो मिलने डूबारा

तुझको बुलाने भेजा है शर्मनाक

अब कर्ण बहाना नहीं:

सात समुंदर परी

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

सात समुंदर परी

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

तेरी हर बात की मुझे है खबरो

और पास आ न मैं बसबरी

सात तेरा न छोडूं कभी नहीं

मैं तेरा हमसफ़र तू मेरी प्रेमी

मेरे पीछे चली ऐ है ये लड़की

हर कदम मेरा फॉलो ये है karti

सब कहे मुझपे ​​ये मार्ति

सच कहूं इसमे तेरी न कोई गलत

मस्त मगन मैं मस्त कलंदरी

मुफ्त करदुन तेरे लिए कैलेंडर

दुनिया सारी जल जाए

जब साथ मेरे तू सात समुंदरी

दुनिया सारी जल जाए

जब साथ मेरे तू सात समुंदरी

तू सफर मेरा असर मेरा है घर मेरा

मैं ठिकाना तेरा कहना तेरा

जमाना हु तेरा

मैं जहां पर रहूं तू ही हो वो पता

दूर तुझसे जो थी मैं तो थी लापता

सात समुंदर परी

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

सात समुंदर परी

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

मैं तेरे पिचे पिचे आ गई

Leave a Comment