Garbe Ki Raat Lyrics – Rahul Vaidya RKV – Lyricsmintss » LyricsMINTSS

ऐ… खम्मा के जे महरी
खम्मा के जी

हे मठ पा टीका
लगाद्यो मैं आव्यो
मठ पा टीका ऐ ऐ

ऐ सतरंगी जोड़ी मा
सीशे जडाव्यो
सतरगी जोड़ी माँ ऐ ऐ

गरबे की है रात
हाथो में दे हाथो
भूले ना ये साथ ऐसे नाचो

थोडा फिसल जो
हद से निकल जाओ
फिर ना संभल पाओ ऐसे नाचो

ऐ रामवा आओ महदी रामवा आओ
आज मात मेल्दी रामवा आवो
रामवा आओ मेहंदी रामवा अवो
आज महरी मुगल महदी रामवा अवो

खम्मा के जे महरी खम्मा के जी
थारा चोरुदा ने खम्मा के जी
ऐ खम्मा के जे महरी खम्मा के जी
थारा चोरुदा ने खम्मा के जी

फोन किया रैपर को
मोती रकम माँगता है
कहता है भक्ति के
गाने नहीं चलते

चलते चलते सोचा
रैप मैं बनूंगा
जो भी है दिल में मेरे
लिख के मैं दिखूंगा

माता रानी की मुझे कृपा है
जो भी मिला मुझको
ये सब आपकी दुआ है

सब की परशानियां
इक पल में ये मिताती
ज़ोर से बोलो जय माता दी
जय माता दी!

गरबे की रात को
क्यूं पिछे पड़ा है
तांग ना कर ऐसे
मेरा भाई खड़ा है

छन छना छन बोले
तेरी पयालिया रे
नाज़्रोन ने टेरिक
मेरा दिल ले लिया

ओह तेरी फोटो को दिल से लगाऊंगा मैं
बस तुझसे ही शादी बनूंगा मैं
मीरा के बलम मुझे आती शर्म
इतना प्यार ना कर मार ही जाउंगी मैं

ऐ रामवा आओ महदी रामवा आओ
आज मात मेल्दी रामवा आवो
रामवा आओ मेहंदी रामवा अवो
आज महरी मुगल महदी रामवा अवो

ऐ हान!

खम्मा के जे महरी खम्मा के जी
थारा चोरुदा ने खम्मा के जी
ऐ खम्मा के जे महरी खम्मा के जी
थारा चोरुदा ने खम्मा के जी

Leave a Comment