GARBE KI RAAT LYRICS – Rahul Vaidya, Bhoomi Trivedi – Lyricsmintss » LyricsMINTSS

ऐ खम्मा काजे म्हादी

खम्मा काजे रे

हे मठ पे टीका लगाद्यो मैं अग्यो

मठ पाई टीका

ऐ सतरंगी जोड़ी मा शीशे जड़ द्यो

सतरगी जोड़ी माँ

गरबे की है रात हाथों में दे हाथो

भूले न ये साथ ऐसे नाचो

थोड़ा फिसल जाओ हद से निकल जाओ

फिर न संभल पाओ ऐसे नाचो

ऐ रामवा आओ मादि रामवा आवो

आज बात बेल्दी रामवा आवो

रामवा आओ मादि रामवा आवो

आज महरी मुगल बादी रामवा आवो

खम्मा के जे महदी खम्मा के जी

थारा छोरुदा ने खम्मा के जे

ऐ खम्मा के जे महदी खम्मा के जे

थारा छोरुदा ने खम्मा काजे

फोन किया रैपर को मोती रैकम मांगा है

कहता है भक्ति के जाने नहीं चलते

चलते चलते सोचा रैप मैं बनूंगा

जो भी है दिल में मेरे लिख के मैं दिखूंगा

माता रानी की मुझ पर कृपा है

जो भी मिला मुझे ये सब आपकी दुआ है

सब की परेशनियां एक पल में ये मिटटी

ज़ोर से बोलो जय माता दी, जय माता दी

गरबे की रात को क्यों पीछे पड़ा है

तंग ना कर ऐसा मेरा भाई खड़ा है

छन छना छन बोले तेरी पयालिया रे

नज़रों ने तेरी मेरा दिल ले लिया

हो तेरी फोटो को दिल से लगाऊंगा मैं

बस तुझसे ही शादी बनाउंगा मैं

मेरे नॉटी बालम मुझे आती शर्मो

इतना प्यार ना कर मार ही जाउंगी मैं

ऐ रामवा आओ मादि रामवा आवो

आज बात बेल्दी रामवा आवो

रामवा आओ मादि रामवा आवो

आज महरी मुगल बादी रामवा आवो

खम्मा के जे महदी खम्मा के जी

थारा छोरुदा ने खम्मा के जे

ऐ खम्मा के जे महदी खम्मा के जे

थारा छोरुदा ने खम्मा के जे

Leave a Comment